एक मिनट!! क्या पीरियड्स के दौरान पार्टनर के मूड स्विंग्स से आप हैं परेशान? गुस्से से नहीं प्यार से निकालिए इस समस्या का समाधान….

3 weeks ago Mahima Nigam 0

अक्सर महिलाओं को जब भी मासिक धर्म आते है तो उन्हें बहुत सारी परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है। आजकल लड़कियों महज 10-12 साल की उम्र में ही मासिक धर्म शुरु हो जाते है। और उनको मासिक धर्म तब तक रहते है जब तक वो 40-50 की उम्र पार नहीं कर देती है। जब महिलाओं में मासिक धर्म की प्रकिया को मेनोपॉज या रजोनिवृत्ति कहा जाता है। पीरियड्स के वक्त ही महिलाओं के शरीर में बहुत सारे बदलाव आते है महाविरी के समय महिलाओं में शारीरिक और हार्मोनल चैंनज आते हैं। आज हम आपको बताते है कि पीरियड्स के दौरान महिलाओं में कौन-कौन से बदलाव आते है।

 

स्तनों में दर्द

आपने भी नोटिस किया होगा जब आपके पीरियड्स आते है उस वक्त आपको आपके स्तनों में हल्का-हल्का दर्द होता है। ऐसे इसलिए होता है क्योंकि आपकी बॉडी उस दौरान मेनोपॉज से गुजर रही होती है जिस वजह से आपके स्तनों में दर्द होता है।

कमर दर्द

जब भी आपकी बॉडी मेनोपॉज से गुजर रही होती है। तो आपकी कमर में उस दौरान काफी दर्द रहता है। इसकी वजह आपके गर्भाशय में चैंनज होता है जिस वजह से आपकी कमर में दर्द होता है।

योनि में सूखापन

मेनोपॉज के वक्त महिलाओं की योनि में सूखेपन या खुजली की दिक्कत आती है। अगर आपको भी यहीं दिक्कत है तो आपको ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए इससे आपकी बॉडी में पानी की कमी नहीं होगी और आपकी योनि में भी सूखापन और खुजली जैसी समस्या नहीं होगी।

त्वचा में ड्राइनेस

महिलाओं को जब पीरियड्स होते है। उस वक्त उनके शारीर में रजोनिवृत्ति की वजह से उनके हार्मोनल में बदलाव होते है जिस वजह से उनकी त्वचा में खिंचाव होने लगता है जिस कारण से उनकी ड्राइ स्किन हो जाती है और जिस वजह से उन्हें खुजली के साथ कई तरह की बीमारियां हो सकती है।

तनाव

पीरियड्स के दौरान महिलाओं के शरीर में हार्मोनल चैंनज होता है। जिस वजह से महिलाएं काफी चिड़चिड़ापन और तनाव महसूस करती है। ऐसे वक्त में पुरूषों को अपने पार्टनर को ऐसे वक्त में गुस्से से नहीं बल्कि प्यार से उनके साथ बात करनी चाहिए।

कमजोरी बने रहना

पीरियड्स के वक्त महिलाओं में कई तरह के बदलाव होते है जैसे मानसिक और शारीरिक। ऐसे वक्त में महिलाओं को भूख नहीं लगती, खून की कमी और कमजोरी महसूस होती है ये सारी परेशानी आम है।

पेट और पैरों में ऐंठन

मेनोपॉज के वक्त महिलाओं की नसों में अकड़न या ऐंठन जैसी परेशानी होती है। डरिए मत पीरियड्स खत्म होते ही ये परेशानी भी खत्म हो जाती है।

सिरदर्द

स्ट्रेस की वजह से सिरदर्द होना आम बात है अगर आप किसी बात के बारे में ज्यादा सोचते है तो आपका सिरदर्द होना स्वाभिक है। सिरदर्द का सबसे बडा कारण तनाव है।

 

उनका ख्याल रखें

महिलाएं पीरियड्स के दौरान ऐसी स्थिति से गुजर रही होती है जिसके बारे में उन्हें भी नहीं पता होता है कि उनके साथ हो क्या रहा है। ऐसे वक्त में उनके पार्टनर को उनके साथ बेरूखी से नहीं बल्कि प्यार से बात करनी चाहिए।