‘स्लमडॉग मिलेनियर’ की चाइल्ड आर्टिस्ट के साथ हुआ था ये बड़ा हादसा, अब जी रही हैं दर्दनाक जिंदगी

‘स्लमडॉग मिलेनियर’ की चाइल्ड आर्टिस्ट के साथ हुआ था ये बड़ा हादसा, अब जी रही हैं दर्दनाक जिंदगी

बॉलीवुड फिल्म ‘स्लमडॉग मिलेनियर’ तो आपको याद ही होगी, जिसने साल 2008 में पूरे देश में धमाल मचा दिया था। वहीं, इस फिल्म के स्टार्स की दमदार एक्टिंग ने भी दर्शकों का खूब दिल जीता था। इसमें सबसे ज्यादा दर्शकों ने लतिका की भूमिका को पसंद किया था। वहीं, आज हम लतिका यानि कि रुबीना अली के बारे में कुछ अनकही बातें बताने जा रहे हैं। जिसे जानकर आप दंग रह जाएंगे।

आपको बता दें कि, उस समय रुबीना बांद्रा के पास बनी एक झुग्गी बस्ती में रहा करती थी। फिल्म ‘स्लमडॉग मिलेनियर’ ने उनकी किस्मत को बदल कर रख दिया था। फिल्म के लिए वो 2008 में ‘ब्लैक रील अवार्ड्स’ के लिए नॉमिनेट हुई थीं। साथ ही साथ उन्होंने 2008 में ‘स्क्रीन एक्टर्स गिल्ड अवार्ड’ भी जीता था, लेकिन साल 2011 में हुए उनके साथ एक हादसे ने उनकी दुनिया एक बार फिर से उजाड़ा दी। जी हां, रुबीना अली के साथ ऐसा हो सुन आपका का भी दिल थम जाएगा।

बता दें कि, हर कोई अपने सपनों का घर चाहता है, लेकिन अगर वहीं घर आपके सामने ही तबाह हो जाएं तो आपको कैसे लगेगा। जी हां, इसी तरह का हादसा इस स्टार के साथ भी हुआ था। दरअसल, रुबीना जिस इलाके में रहती थीं, एक बार वहां भीषण आग लग गयी थी। जिसमें उनको मिले अवार्ड्स और फोटोज समेत पूरा घर खाक हो गया था। उस हादसे के बाद से वे मुंबई से 60 किलोमीटर दूर नालासुपारा इलाके में अकेली ही रहती हैं।

खबरों की मानें तो, रूबीना के पिता रफीक कुरैशी ने उन्हें एक अरब कपल को दो लाख पाउंड में बेचने की कोशिश की थी। खबरों के अनुसार इस मामले में रफीक की गिरफ्तारी भी हुई थी। इस डील का वीडियो एक अखबार ने अपने पास होने का दावा भी किया था। हालांकि, इन सब बातों को रुबीना ने बेबुनियाद बताते हुए कहा था कि उनके पिता उनसे बहुत प्यार करते हैं और कभी ऐसा करने का सोच भी नहीं सकते। इस खबर के फ़ैल जाने के बाद एक NRI एआर विनू ने उनका पूरा खर्च उठाने की इच्छा जताई थी।

फिलहाल, रुबीना अभी B.A फर्स्ट ईयर की स्टूड़ेंट हैं। रूबीना के अनुसार कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता। वैसे तो उनका सपना भी बॉलीवुड में एक्ट्रेस बनने का है, मगर वो घर खर्च चलाने के लिए जॉब भी करने को तैयार हैं। रुबीना सिर्फ 9 साल की उम्र में ही अपनी ऑटोबायोग्राफी लिखना चाहती थी। जिसमें वो अपने गरीबी के दिनों और ‘स्लमडॉग मिलेनियर’ से मिले फेम के बारे में लिखतीं है। उनकी ऑटोबायोग्राफी को पब्लिश करने के लिए ब्रिटेन की एक पब्लिशिंग कंपनी ट्रांसवर्ल्ड तैयार थी। हम उम्मीद करते हैं कि रुबीना की जिंदगी उनके लिए ‘स्लमडॉग मिलेनियर’ जैसा कोई नया मौका लेकर आएगी।

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account