इस फेमस एक्ट्रेस को B-Grade फिल्मों में काम करना पड़ा भारी, करियर हुआ बर्बाद

इस फेमस एक्ट्रेस को B-Grade फिल्मों में काम करना पड़ा भारी, करियर हुआ बर्बाद

अक्सर देखा गया है कि बहुत-सी एक्ट्रसेस अपने करियर की शूरूआत ‘बी-ग्रेड’ जैसी फिल्मों से करती हैं और धीरे-धीरे बॉलीवुड में एंट्री ले लेती हैं, लेकिन क्या आप जानते है कि, 70 के दशक में एक बॉलीवुड एक्ट्रेस ने ‘बी-ग्रेड’ फिल्म में काम किया था, जिसके बाद उनका करियर बर्बाद हो गया था। आज हम आपके सामने उस एक्ट्रेस के करियर से जुडें कुछ राज से पर्दा उठाएंगे।

आपको बता दें कि, उस दौर में उन्हें बॉलीवुड में सिर्फ बहन के रोल ही ऑफर हो रहे थे। इसके अलावा कोई भी फिल्म डायेरक्टर उन्हें अपनी फिल्म में बतौर एक्ट्रेस साइन नहीं करते थे। जी हां, इस एक्ट्रेस का नाम है आशा सचदेव जो 70 के दशक में उन हिरोईनों में से एक थी, जिनकी खूबसूरती और एक्टिंग के सभी दीवाने थे। आशा सचदेव 70 के दशक की काफी पॉपुलर एक्ट्रेस थी। आशा सचदेव सभी निर्देशकों और एक्टर्स के साथ काम चुकीं थीं। महेश भट्ट जैसे दिग्गज डायरेक्टर भी आशा के साथ काम करना चाहते थे लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद भी वो उनके साथ कभी काम नहीं कर पाये। आशा धीरे-धीरे सफल हो रही थीं लेकिन एक गलत फैसले ने उनका सारा करियर बर्बाद कर दिया था, और वो गलत फैसला था एक बी-ग्रेड फिल्म में काम करने का।

बता दें कि, उनके इस फैसले की वजह से उन्हें इंडस्ट्री में काम मिलना बन्द हो गया था और अगर उन्हें कोई रोल भी ऑफर होता था तो वो, सिर्फ बहन का रोल ही देते थे। यहां तक वो जिन एक्टर और डायरेक्टर को जानती थीं वो भी उनसें दूर-दूर रहने लगे थे। करियर के टॉप पर होने के बावजूद भी उन्होंने एक फिल्म में काम किया था, इस फिल्म का नाम ‘बिंदिया और बंदूक’ था। एक बी-ग्रेड फिल्म होने बावजूद ये काफी हिट रही थी। साथ ही आशा सचदेव की एक्टिंग की भी खूब तारीफ हुई थी। इसी फिल्म के बाद उनकी जिंदगी काफी बदल गई। बी-ग्रेड फिल्म में काम करने के चलते सभी ए-ग्रेड डायरेक्टर ने तो उनसे कन्नी काट ली थी, और बहुत-सी बड़ी फिल्मों से उन्हें हाथ-धोना पड़ा।

इसके बाद से आशा के हाथ से कई बड़ी-बड़ी फिल्में निकल गयी। जिस वजह से ना चाहते हुए भी आशा को कम बजट वाली फिल्मों में काम करना पड़ा। उस दौरान उन्हें लीड रोल की बजाय सपोर्टिंग हीरोइन के किरदार से संतुष्ट होना पड़ रहा था। कभी किसी फिल्म में वो हीरोइऩ की बहन का रोल करती तो किसी फिल्म में साइड रोल ही मिलता था, और आखिर में उनका करियर कैरेक्टर रोल तक सिमट गया था। आशा ने अपने करियर को ट्रैक पर लाने के लिए रेखा की एक फिल्म ‘वो मै नहीं’ की। जिसमें लोगों ने उनके काम को काफी सहारा था और आशा के बोल्ड लुक की काफी तारीफ भी की थी, लेकिन इससे भी आशा को फायदा नहीं हुआ था।

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account