महिलाओं को स्किन जीन्स वियर करने से हो सकती हैं, ये परेशानियां

महिलाओं को स्किन जीन्स वियर करने से हो सकती हैं, ये परेशानियां

आज कल के बदलते लाइफस्टाइल को देखते हुए मर्किट में अलग-अलग तरह के कपड़ो का फैशन चल रहा है। खास तौर पर लड़कियां, अगर मर्किट मे कोई कपड़ा आया है, तो उसे फैशन के तौर पर खरीद लेती है। कुछ कपड़े सिर्फ आपके फैशन के लिए ही होते है, उन कपड़ो मे आप हमेशा कंफर्टेबल नहीं रह सकते है। हाल ही, में मर्किट मे अलग-अलग तरह की जीन्स नजर आ रही हैं उसमें से स्किन जीन्स का लड़कियां काफी ज्यादा यूज कर रही हैं। भले ही स्किन जीन्स से आपको स्लिम लुक मिलता है, लेकिन इसके कई साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। दरअसल, इससे मरेल्जिया परेस्थेटिका डिसऑर्डर हो सकता है। क्या आप जानते है इसके बारे में तो, आइए बताते है स्किन जीन्स से होने वाले नुकसान।

अगर हम लड़कियों कि, पॉपुलर ट्रेंड्स की बात करें, तो पिछले लंबे टाइम से स्किन जींस काफी डिमांड में हैं। दरअसल, एक इंटरनैशनल वेबसाइट के एक आर्टिकल के मुताबिक, पता चला है कि, ज्यादा टाइट स्किन जींस पहनने से हेल्थ प्रॉब्लम्स हो सकती हैं। वहीं, एक न्यूजपेपर में छपे एक आर्टिकल में वस्क्युलर सर्जरी के चीफ रॉबर्ट  ने कहा है कि, स्किन जींस पहनने से बॉडी पार्ट्स में सही तरह से ब्लड फ्लो नहीं होता। इसलिए बेहतर है कि, जींस में एक साइज बड़ा ले लिया जाए, हालांकि आपकी चॉइस अगर स्टाइल से ज्यादा हेल्थ पर ध्यान देने की है, तो यह टाइम अलर्ट होने का है।

क्या हैं हेल्थ रिस्क
बता दें कि, रिसर्च में पाया गया है, बहुत टाइट स्किनी जींस पहनने से मरेल्जिया परेस्थेटिका नाम का नर्व डिसऑर्डर हो सकता है। अमेरिका के एक मेडिकल सेंटर से जुड़ीं डॉक्टर क्रेन बॉयल ने इस डिसऑर्डर पर खासा काम किया है। एक वेबसाइट पर उन्होंने बताया कि, थाइज के बाहरी हिस्से की एक खास नर्व पर लगातार दबाव बनने की वजह से यह डिसऑर्डर होता है।

कैसे होता है
मरेल्जिया परेस्थेटिका को इसलिए डेंजरस माना जाता है, क्योंकि इसमें नर्व्स डैमेज हो जाती हैं। न्यूरोसर्जन कमर और थाइज को एक सेंसरी नर्व रिलेट करती है। बहुत टाइट कपड़े पहनने से इस पर काफी प्रेशर पड़ता है, जिससे यह दबकर काम करना बंद कर देती है। टाइट क्लोद्स के अलावा बहुत ज्यादा वजन बढ़ने की सिचुएशन में भी ऐसा होता है। ऐसे में, नर्व का काम करने का तरीका बदल जाता है और हल्का टच भी तेज दर्द की तरह महसूस होता है।

तो क्या करें
हांलकि, फैशन के आगे हेल्थ के साथ समझौता कोई भी नहीं करना चाहेगा, इसलिए अब से जब भी आपका मन स्किनी जींस पहनने का हो,  तो उसे थोड़ा अलर्ट होकर कैरी करें। क्योकि टाइट जींस को हिप्स के पास कसकर बांधने से यह प्रॉब्लम होती है वैसे इस डिसऑर्डर का इलाज हो सकता है, लेकिन  यह आसान नहीं है। इसके इलाज के तौर पर नर्व को या तो छोटा किया जाता है या फिर पूरी तरह  काट ही देते हैं।

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account