महिलाओं की जिंदगी में पीरियड्स एक ऐसी समस्या है जो दर्द से भरी तो होती है लकिन महिलाओं के लिए उतनी ही जरुरी भी होती है| भले ही आज से कुछ समय पहले तक इस विषय पर खुलकर चर्चा ना की जाती हो लेकिन इस मॉडर्न टाइम में हर एक को इस पीरियड्स जैसी समस्या की जानकारी देने की कोशिश की जा रही है| यहाँ तक की अक्षय कुमार जैसे अभिनेता जो हमेशा एक ऐसी मूवी लाते हैं जिससे दर्शकों को सीख मिलती है वो भी इस बार पीरियड्स पर मूवी बना रहे हैं जिसका नाम ‘पैडमैन’ है|आम जिंदगी की बात करें तो जब बात पैड या सैनिटरी नैपकिन की आए तो इससे जुड़ी कुछ बातों का ध्यान रखना काफ़ी ज़रूरी होता है। पीरियड्स महिलाओं के शरीर की एक प्राकृतिक क्रिया है, इस दौरान महिलाएं काफ़ी परेशानियों से गुज़रती है जैसे- मूड स्विंग्स या पेट में दर्द की शिकायत। इस दौरान बहुत सी महिलायें सैनिटरी नैपकिन का इस्तेमाल करती है जो शरीर से होने वाले रक्त स्त्राव को सोखने का काम करता है लेकिन शायद बहुत सी महिलाओं को यह पता नहीं होगा की वो पैड या सैनिटरी नैपकिन इस्तेमाल करते वक़्त कुछ गलतियां कर देती है। इसलिए आज इस ब्लॉग के ज़रिये हम आपको पैड या सैनिटरी नैपकिन से जुड़ी कुछ ज़रूरी बातें बता रहे हैं जिसे आपके लिए जानना ज़रूरी है।

 

क्वालिटी का रखें ध्यान

चाहे हम रोज मर्रा की जिंदगी में कोई भी चीज इस्तेमाल करें अगर उसकी क्वालिटी अच्छी नहीं है तो उसका इस्तेमाल करना बेकार है| पैड के मामले में भी यही बात लागू होती है|कभी भी पैसे के वजह से क्वालिटी के साथ समझौता ना करें। अगर आप अच्छी क्वालिटी का पैड इस्तेमाल नहीं करेंगी तो आपको रैसेज़ या एलर्जी जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

हर कुछ घंटे में बदले पैड

महिलाएं अक्सर पैड बदलने में आलस कर जाते हैं| जो की बिल्कुल सही नहीं है। ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए इससे इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है।

त्वचा के अनुसार अपने पैड का चुनाव करें

हमेशा वही पैड पहने जो आपकी त्वचा को सूट करे। अगर आपने पहले कोई पैड इस्तेमाल किया है और उससे आपको रैसेज़ या एलर्जी हुई है तो दुबारा उसका इस्तेमाल ना करें। इसके अलावा लंबे नैपकीन का चुनाव करें ताकि आपको दाग लगने का डर ना हो।

बार-बार ब्रांड ना बदले

हमेशा जिस ब्रांड की नैपकिन आप शुरुआत से इस्तेमाल कर रही है उसी ब्रांड का इस्तेमाल करें। बार-बार इसे बदले ना क्यूंकि आपकी त्वचा को वो सूट कर जाता है और ऐसे में अगर आप अचानक से ब्रांड बदलेंगी तो हो सकता है आपको सूट ना करे। इसके अलावा आपको अनकम्फर्टेबल भी महसूस हो।

साफ़-सफाई भी है ज़रूरी

पीरियड्स के दौरान पैड लगाने से पहले अपने प्राइवेट पार्ट्स को अच्छे से साफ़ करें ताकि आपको कोई इंफेक्शन ना हो। इस वक़्त साफ़-सफाई का ध्यान रखना बहुत ज़रूरी होता है, इसलिए पैड बदलने के बाद हाथ ज़रूर धोएं। इसके अलावा इसे यूज़ करने के बाद अच्छी तरह से फेके ताकि उससे किसी और को कोई इंफेक्शन ना हो।

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account